09 मई 2016

चुनावी कुचक्र: बूथ बदलने की साजिश नाकाम

पंचायती चुनाव में प्रत्याशी मतदाताओं के बूथ को एक टोला से हटाकर दूसरे टोला में किए जाने का खेल भी खेलने से नहीं चूकते हैं. कभी-कभी यह खेल इतनी होशियारी के साथ खेला जाता है कि अंत तक मतदाताओं को इसकी भनक तक नहीं लगने दी जाती है. मतदाता आश्वस्त रहते हैं कि वे जहां वोट गिराते है, वहीं गिराएगें पर अंत में पता चलता है कि उनके टोला के बूथ को ही बदल दिया गया है. 
     कुछ ऐसा हीं कुचक्र बिहारीगंज के हथिऔंधा, मधुकरचक समेत अन्य पंचायतो में रचा गया, लेकिन मतदाता के जागरूक रहने व बिहारीगंज प्रखंड विकास पदाधिकारी सह निर्वाची पदाधिकारी के सार्थक पहल से मतदाताओं की परेशानी दूर हो गयी.

मामला कुछ इस तरह है. हथिऔंधा पंचायत के वार्ड 12 बूथ संख्या 155 उ.म.वि.मंडल टोला के बूथ को राजनीतिक दुर्भावनावश कुछ तथाकथित लोगों ने वार्ड 13 सिंदुरिया टोला कर दिया और उस टोला के यानि वार्ड 13 के बूथ संख्या 156 को मंडल टोला शिफ्ट कर दिया, ताकि लोग दो किलोमीटर दूर वोट गिराने न जा सके.  
     इस बात की जानकारी किसी प्रकार मतदाताओं को हुई तो उन्होंने इसकी सूचना निर्वाची पदाधिकारी को दिया जिन्होंने बूथों का भौतिक सत्यापन किया तो पाया कि वास्तिविक में दोनों की दूरी बहुत अधिक है, साथ हीं मतदाता पिछले तीन दशक से अपने टोला में हीं वोट गिराते है. उन्होंने समय रहते इसकी जानकारी चुनाव आयोग की दी बाद में उपरोक्त बूथों को अपने यथास्थान करने का आदेश चुनाव आयोग से प्राप्त हुआ. इस प्रकार मतदाता परेशान होने से बच गये.
   वहीं उक्त बावत हथिऔंधा पंचायत के मुखिया प्रत्याशी पति चंदू मंडल ने चुनाव आयोग को पत्र प्रेषित कर बूथ को बदलने वाले दोषी लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर कारवाई करने की मांग की है,ताकि भविष्य में जनता को परेशानी से बचाया जा सके.  
(रिपोर्ट: रानी देवी)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...