05 मई 2016

‘चिलम की सोंट’ पर वोट की जुगाड़ में जुटे प्रत्याशी

मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड क्षेत्र में आठवें चरण में 22 मई को होनेवाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की सरगर्मी काफी तेज हो चुकी है. अहले सुबह से ही प्रत्याशी जहाँ वोट की जुगाड़ में घर से निकलकर घर-घर का चौखट चूमते नजर आ रहे हैं, वहीं नामांकन के समय से ही प्रखंड क्षेत्र में शराब की पूर्णतः बंदी की वजह से जहाँ शराबी के हाथ खाली नजर आते हैं वहीं गंजेड़ियों की अहले सुबह से लेकर देर रात्रि तक चांदी ही चांदी हैं. क्योंकि मुख्य बाजार तो क्या ग्रामीण क्षेत्रों में भी जहाँ गांजा आसानी से उपलब्ध हो जाया करती है वहीं दरवाजे व बगीचों में बने मचान पर बैठे युवा व कई अधेड़ उम्र के ग्रामीणों को चिलम की चाकड़ी लगाते देख समर्थक भी सोंट लगाने से बाज नहीं आ रहे है.
      प्रत्याशी व उनके समर्थक शराबियों को शराब उपलब्ध नहीं होने का वास्ता देकर गांजा से ही काम चला लेने की दुहाई देते नजर आ रहे हैं. वहीं चुनाव के इस मौसम में पान, सिगरेट व रजनीगंधा की बिक्री ने भी काफी जोर पकड़ लिया है. वैसे मतदाता जो अपने पैसे से बीड़ी व गुटखा से ही काम चलाते हैं वह प्रत्याशियों को देखते ही दुकानदारों से सिगरेट व रजनीगंधा की मांग कर बैठते हैं. प्रत्याशी की मानें तो उन्हें बस किसी भी तरीके से अपने वोट बैंक को सुरक्षित करने की मजबूरी है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...