22 मई 2016

पुरैनी चुनाव: प्रत्याशी व वोटरों ने काटा बवाल, जमकर चले लाठी, डंडे व पत्थर: डीएम-एसपी की सूझबूझ से टली बड़ी अनहोनी

आज रविवार को आठवें चरण में मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड क्षेत्र के 9 पंचायतों में भारी हंगामे व नोकझोंक के बीच चुनाव सम्पन्न हुआ.  मतदान के दौरान नरदह पंचायत के मध्य विद्यालय योगीराज में स्थित बूथ सं. 54 पर मतदानकर्मियों की गलती का खामियाजा प्रशासन व मतदाताओं को उठाना पड़ा. उक्त बूथ का मतदान रद्द करने की घोषणा कर दी गई. वहीं डीएम व एसपी के अथक प्रयास से शेष तीन बूथ संख्यां 51, 52 तथा 53 पर 5 घंटे विलम्ब से मतदान शुरू हो सका.
     इसके पूर्व एक गुट के मतदाताओं द्वारा दूसरे गुट के मतदाताओं को मतदान करने से रोकने को लेकर दोनों गुटो में भारी तनाव उत्पन्न हो गया और जमकर लाठी, डंडे व पत्थर की बरसात हुई. जो बाद में विकराल रूप धारण कर दोनों गुटो में जमकर हुई भिडंत के बाद समाप्त हुई.  दोनो गुटों के आपस में भिडंत की खबर सुनकर मतदान केन्द्र दुबारा पहुंचे डीएम व एसपी द्वारा मतदाताओं को किसी तरह समझा-बुझा कर एवं बाधित रहे समय की भरपाई हेतु देर रात तक मतदान कराये जाने का आश्वासन देने के बाद उक्त तीनों मतदान केन्द्रों पर 5 घंटा विलंब से मतदान प्रारंभ करवाया गया.

जानिए क्या, क्यों और कैसे हुआ ये सब?: पुरैनी प्रखंड के नरदह पंचायत के मध्य विद्यालय योगीराज में बूथ सं. 54 पर पीठासीन पदाधिकारी के गलती की वजह से सरपंच के मत पत्र के बदले वार्ड सदस्य का दो-दो मत पत्र मतदाताओं को मतदान हेतु दिया जा रहा था. कुछ देर तक यह सिलसिला जारी रहा. बाद में सरपंच प्रत्याशी किरण मेहता व उसके अभिकर्ता सह पति बमबम मेहता ने जब देखा कि मतदाताओं को सरपंच का मत पत्र दिया ही नहीं जा रहा है तो उन्होंने इसका विरोध किया. तब पीठासीन पदाधिकारी सहित मतगणना कर्मी का ध्यान मत पत्र पर गया तो वे भी भौंचक रह गए और मामले को रफा दफा करने के असफल प्रयास में जुट गये. 
     प्रत्याशी किरण मेहता और उसके अभिकर्ता बमबम मेहता द्वारा पीठासीन पदाधिकारी पर एक खास प्रत्याशी से रिश्वत लेकर जानबूझकर ऐसा करने की शिकायर मौके पर पहुंचे जिला सहकारिता पदाधिकारी समरेश कुमार से की तो उन्होंने प्रत्याशी किरण मेहता और उसके अभिकर्ता बमबम मेहता को बाहर निकलने को कहते हुए गिरफ्तार करने का धमकी दे दी. बस इसी बात को लेकर उसके समर्थक सहित अन्य मतदाता काफी आक्रोशित हो गये और जमकर बवाल मचाने लगे.
       इसके बाद मतदान केन्द्र से बाहर निकलकर सभी एकजुट होकर जोरदार तरीके से विरोध व हंगामा करना शुरू कर दिया. हंगामे की खबर पाकर मौके पर पहुंचे एसडीओ मुकेश कुमार और एसडीपीओ रहमत अली ने प्रत्याशियों को बुलाकर मामले को सुलझाना चाहा लेकिन प्रत्याशी उक्त केन्द्र के अलावे परिसर स्थित शेष तीन मतदान केन्द्र 51, 52 तथा 53 का भी मतदान रद्द करने की बात पर अड़े हुए थे. फिर इसकी सूचना पाकर घंटो बाद एसपी विकास कुमार के साथ डीएम मो० सोहैल घटना स्थल पर पहुँचकर मामले की तहकीकात कर गड़बड़ी हुए मतदान केन्द्र संख्यां 54 को रद्द करने की बात कहते हुए शेष तीनों बूथों पर मतदान प्रारंभ करने की घोषणा की.
       पर डीएम के जाने के बाद एक गुट के लोगों द्वारा जब मतदान हेतु मतदान केन्द्र पर आने लगे तो दूसरे गुट के लोग उनलोगों को मतदान करने से रोकने लगे. इसी बीच माहौल ने भयावह रूप धारण कर लिया और दोनों गुटों के सैकड़ों लोगों के बीच जमकर लाठी, डंडे व पत्थर चले. माहौल इतना भड़क गया था कि इसे नियंत्रण करने में पुलिस और पदाधिकारी के द्वारा काफी मशक्कत करने के बाद भी भीड़ नियंत्रण में नहीं आ रही थी. थोड़ी देर चली भिडंत में कोई बड़ी नुकसान तो नहीं हुआ लेकिन दोनों गुट के दर्जनों लोगों को काफी चोटें आई. पुनः डेढ बजे डीएम मो० सोहैल व एसपी विकास कुमार दुबारा उक्त बूथ पर पहुंचकर सभी लोगों को समझा-बुझा कर मतदान प्रारंभ करवाया. शेष 3 बूथ, जिनपर पांच घंटे देर से मतदान शुरू हुआ वहाँ 7:30 बजे शाम में मतदान संपन्न हुआ और इन बूथों पर 73% वोटिंग की सूचना है. चुनाव कार्य के दौरान दो व्यक्ति हिरासत में लिए गए. मतदान प्रारंभ होने के बाद भी दोनों पक्षों के लोगों में काफी तनाव व्याप्त है और मतदान के बाद भी हिंसक घटना की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...